बारहवें भाव व्‍यय भाव स्वामी मोक्ष भाव स्वामी का बारह भावों में प्रभाव


बारहवें भाव (व्‍यय भाव) का बारह भावों में प्रभाव


FOR HOROSCOPE CONSULTATION WATTSAPP +917566384193

प्रथम भाव  में
जीवन के शुरुआती चरण में आपका शरीर कमजोर रहता है। बाद में आपके वजन में बढ़ोत्तरी होती है और आप स्‍वस्‍थ रहते हैं। आपको जीवन में कई तरह की परेशानियां उठानी पड़ती हैं और जीवन के अंतिम चरण में आपका ध्‍यान अध्‍यात्‍म ज्‍यादा रहता है। आप बहुत बुरे कर्म करते हैं और आपको अपने पूर्व जन्‍म के कर्मों का फल भी भोगना पड़ता है। समय-समय पर आपका बिजनेस और करियर खराब होता रहता है। जीवन में कई बुरे और अच्‍छे अनुभवों के बाद आपमें धैर्य का विकास होता है। आपको फेफडों का रोग हो सकता है। आपमें आत्‍मविश्‍वास की कमी होती है।
दूसरे भाव में
खर्चों में बढ़ोत्तरी होती है। आप अपने ऐशो-आराम, धर्म और दान आदि पर खर्च कर सकते हैं। ग्रहों की दशा और गोचर के अनुसार आपकी आय के स्रोत बदलते रहते हैं लेकिन खर्चे बने रहते हैं। विदेश से धन लाभ के योग हैं। आपकी सेहत ज्‍यादातर खराब रहती है। अपनी मधुर वाणी और मीठी बातों से आप किसी को भी धोखा दे सकते हैं। खानपान की आदतों का ध्‍यान रखना चाहिए।
तीसरे भाव में
शिक्षा के क्षेत्र में असफल हो सकते हैं। अपने छोटे भाई-बहनों पर धन खर्च करना पड़ता है। कान और कंधे में बहुत दिक्‍कत रहती है। अपनी येाजनाओं को साकार करने के लिए आपमें पर्याप्‍त साहस और विश्‍वास नहीं होता है। संतान प्राप्‍ति में भी दिक्‍कत आ सकती है। आपके मन में कई बार आत्‍महत्‍या का विचार भी आ सकता है। काम या धार्मिक कारण से बार-बार यात्रा करनी पड़ती है। विदेश घूमने के भी योग हैं।
चौथे भाव में
कम उम्र में ही माता को खो देते हैं। आपके पास अच्‍छा वाहन नहीं होता है। आप साधारण घर में अपना पूरा जीवन व्‍यतीत कर देते हैं। अनिद्रा से ग्रस्‍त रहते हैं और बेवजह तनाव आपको परेशान करता रहता है। अपने जन्‍मस्‍थान से दूर जाना पड़ता है और आप लंबे समय तक किसी एक जगह पर नहीं रह सकते हैं। आपको पैतृक संपत्ति नहीं मिल पाती है। शिक्षा प्राप्‍त करने में भी दिक्‍कत आती है। वाहन में भी परेशानी रहती है और पारिवारिक सुख नहीं मिल पाता है।
पंचम भाव में
संतान के लिए ये अच्‍छा योग नहीं है। संतान से संतुष्‍ट नहीं होते हैं। शिक्षा में भी परेशानी आती है। प्रेम संबंधों में सफलता नहीं मिल पाती है। पारिवारिक जीवन भी खराब रहता है। मंत्र सिद्धि में विफल हो जाते हैं। आप अपने जीवन में बहुत सारी गलतियां करते हैं। किसी ज्ञानी व्‍यक्‍ति से सलाह लेना बेहतर होगा। आप बहुत मंत्र सिद्धि करते हैं लेकिन उसमें आपको सफलता नहीं मिल पाती है। शेयर मार्केट में भी असफल रहते है।
छठे भाव में
ये बहुत बढिया योग है और इसमें कई लाभ मिलते हैं। मुकदमे आदि से आपको बहुत नुकसान होता है लेकिन अंत में जीत आपकी होती है। शत्रुओं पर विजय प्राप्‍त करते हैं और नाम और प्रसिद्धि कमाते हैं। आप सुखी और लंबा जीवन जीते हैं जो सभी सुख साधनों से परिपूर्ण होता है। शत्रुओं से भी लाभ मिलता है।
सप्‍तम भाव में
आप तपस्‍वी बन सकते हैं। आपका तलाक तक हो सकता है। शिक्षा के क्षेत्र में कई अड़चनें आती हैं एवं कफ संबंधित समस्‍या से परेशान रहते हैं। कोई यौन रोग हो सकता है। आपका जीवनसाथी किसी ज्‍यादा अच्‍छे परिवार से ताल्‍लुक नहीं रखता है। आपका जीवनसाथी आपके साथ कोई धोखा कर सकता है। संतान की सेहत खराब रहती है।
अष्‍टम भाव में
आप विष्‍णु भक्‍त होते हैं। अचानक कोई लाभ मिल सकता है। चिकित्‍सा या काले जादू आदि में काम कर सकते हैं। आपकी दीर्घायु होती है। जीवन में आपको समय-समय पर सरप्राइज़ मिलते रहते हैं। आप लोगों की सेवा से संबंधित कार्य कर सकते हैं। आप विश्‍वसनीय होते हैं और इस वजह से आपका सम्‍मान भी बढ़ता है।
नवम भाव में
विदेश में जमीन खरीद सकतेहैं। आप सच बोलते हैं और इसलिए लोग आपका सम्‍मान भी करते हैं। परिवार में आपको ज्‍यादा पसंद नहीं किया जाता है। कम उम्र में ही पिता को खोना पड़ सकता है। आपको तंत्र सेक्‍स पसंद होता है। आप उच्‍च शिक्षा पाना चाहते हैं एवं आध्‍यात्मिक ज्ञान प्राप्‍त करते हैं ईश्‍वर और धर्म के प्रति आपके विचार थोड़े अलग होते हैं। आपके मन पर किसी अन्‍य धर्म का प्रभाव भी हो सकता है। आप आयात-निर्यात के व्‍यापार में संलिप्‍त हो सकते हैं। धार्मिक कलाकृतियों का व्‍यापार कर सकते हैं।
दशम भाव में
आप बहुत मेहनती होते हैं। आप जेल के आसपास रह सकते हैं। कब्रिस्‍तान, जेल या अस्‍पताल आदि में नौकरी कर सकते हैं। संतान से सुख प्राप्‍त नहीं हो पाता है। उच्‍च अधिकारियों से संपर्क हो सकते हैं। धर्म और मोक्ष में रूचि रखते हैं। आपकी सेक्‍स लाइफ लोगों के बीच गपशप का विषय बन सकती है। पिता के साथ अच्‍छे संबंध होते हैं। करियर और व्‍यापार में कई परेशानियां होती हैं और आपको सरकार की ओर से दंड भी मिल सकता है।
ग्‍यारहवें भाव में
दोस्‍तों या सरकारी अधिकारियों की वजह से नुकसान उठाना पड़ता है। भाईयों पर पैसा खर्च करते हैं जो आगे चलकर आपकेा नज़रअंदाज़ कर देते हैं। सेक्‍स में आपकी बहुत रूचि होती है। आप मानवता से जुड़े कार्य करते हैं। आपका भाई अपंग हो सकता है। आय के लिए आप रत्‍न आदि का व्‍यापार कर सकते हैं।
बारहवें भाव में
आपका सेक्‍स और आध्‍यात्‍मिक जीवन बेहतर होता है। आपके लिए सेक्‍स बहुत जरूरी होता है। आपके कई लोगों के साथ गुप्‍त संबंध होते हैं। आप बहुत यात्राएं करते हैं। अधिक यौन संबंधों के कारण आपकी सेहत खराब हो सकती है। आप आकर्षित व्‍यतित्‍व के धनी होते हैं और इसी वजह से लोग आपके साथ आसानी से संबंध बनाने को तैयार हो जाते हैं। आपको अपने जन्‍मस्‍थान से दूर जाना पड़ सकता है। आप विदेश जाकर भी बस सकते हैं। आप भविष्‍य भी देख सकते हैं।



No comments:

Post a Comment

Bhava Lords in Houses