Thursday, October 15, 2015

6 december बुध का धनु में गोचर

6 december  बुध का धनु में गोचर

अनाउंसमेंट : ६ दिसंबर को बुध धनु राशि में चला जायेगा। धनु अग्नितत्व राशि है और इसमें जाने पर बुध  केतु ,शुक्र,सूर्य के नक्षत्रों से निकलेगा. शुक्र बुध का प्रिय मित्र है वहीँ सूर्य भी बुध का मित्र है। जिन लोगों की बुध की प्रत्यातर दशा चल रही होगी उनको इसके सर्वाधिक प्रभाव महसूस होंगे अन्य को उतना फर्क नहीं पड़ेगा।

मेष :  बुध आपके नवम भाव में गोचर कर रहा है , यदि आप विवाहित हैं तो अथवा  यदि आपका कोई प्रेम प्रसंग चल रहा है तो उसमें आपको आनंद के पल मिलेंगे। धर्म कर्म में आपकी रूचि थोड़ी बनेगी और कुछ दान पुण्य भी आपको करना चाहिए। किसी धार्मिक स्थल पर जाने के लिए अच्छा समय है , आपको हो आना चाहिए। परिवार  के साथ  समय भी गुज़ार लेंगे और नयी खरीद्दारियां भी हो जाएंगी।
वृषभ :  धन हानि के प्रबल योग बने हुए हैं , आपके निजी जीवन में भी बाधा आ सकती है।   प्रेम संबंधों में रुकावट आएगी और  समाप्त भी हो सकते हैं। घर के लोगों से आपका कोई विवाद हो सकता है।  स्वास्थ्य में गिरावट महसूस करेंगे। मन में निराशा  जाग्रत होगी और  क्लेश भी रहेगा। आपके जान पहचान के लोगों में  से कोई आपको नुक्सान पहुंचा सकता है।  आपकी शिक्षा में बाधा  उत्पन्न होगी।  किसी साक्षात्कार में इस समय जाने का मतलब  नहीं है।

मिथुन : आपका लग्नेश लग्न को देखेगा।  यह अच्छी बात है , मन में भी ख़ुशी बनी रहेगी। कामकाज में अच्छी प्रगति होगी। आपमें  ऊर्जा की कमी नहीं आने पाएगी।  व्यापारी लोगों  के लिए फायदे की बात ही है। वैवाहिक  जीवन  सुचारू रूप से चलेगा।  प्रेम संबंधों के कारन खर्च अधिक हो सकते हैं , आप शेयर आदि में धन हानि कर  सकते हैं।कुटुम्बियों से आपका व्यवहार खुशनुमा रहेगा  पारिवारिक गोष्ठियां भी हो सकती हैं।

कर्क : कर्क लग्न के लिए बुध खर्चे का सौदा होता है। लेकिन बुध धनु राशि में  केतु , शुक्र , सूर्य के नक्षत्रों से होकर निकलता है अतः यह आपको कुछ लाभ भी देगा।  जिन जातकों को नौकरी में परेशानी हो रही है अथवा बदलना चाह रहे हैं उनको अभी प्रयास करना चाहिए , आपकी आमदनी बढ़ने के भी आसार हैं अगर आप व्यापारी वर्ग में से हैं। आपको लम्बी यात्रा पर जाने को भी मिल सकता है। धर्म कर्म दान पुण्य भी आपको करने को मिल सकता है।

सिंह : आपमें से जो जातक गण मीडिया अथवा कला  के क्षेत्र में हैं उनको लाभ होगा। अन्य को भी लाभ मिलेगा किन्तु उतना अधिक नहीं , साथ ही आपकी बुध की अंतर या प्रत्र्यान्तर दशा भी चल रही होनी चाहिए। आपको अपने कर्म क्षेत्र में अच्छी सफलता मिलेगी और आपकी संवाद शैली भी अच्छी होगी। आपमें व्यंग्य आदि करने की इच्छा बलवान होगी। आप लोगों को बहुत आनंदित करेंगे और आप सबके बीच अपना स्थान बना पाएंगे।

कन्या : लोगों से आपका जुड़ाव और गहरा होगा।  काम काज  भी अच्छा चलेगा। आपको लम्बी यात्रा  पर जाने को मिल सकता है।  परिवार के सदस्यों के बीच अच्छा तालमेल रहेगा। शिक्षा में आपकी प्रगति होगी , वाणिज्य के विद्यार्थियों को विशेष लाभ मिलेगा. प्रॉपर्टी से जुड़े हुए लोगों को धनलाभ अच्छा होने की संभावना है। विदेश यात्रा भी आप कर सकते हैं जो की अल्पकालिक रहेगी। आपको चाहिए की अपने सेलफोन , लैपटॉप आदि को संभालकर प्रयोग करें अथवा खोने का डर है।

तुला : भाग्येश बुध आपके तृतीय भाव में गोचर कर  रहा है अतः आपको भाग्य का पूर्ण सहयोग मिलने की सम्भावना है , उसकी दृष्टि अपनी ही राशि मिथुन पर बनी रहेगी। यही बुध आपका द्वादशेश भी है अतः अपने विवेक और तर्क का पूर्ण इस्तेमाल करना बहुत आवश्यक है , ऐसा न हो की अतिआत्मविश्वास आपको कोई बड़ी हानि दे दे। इस से बच कर चलना चाहिए और अपने केंद्र बिंदु को सदा ध्यान में रखना चाहिए।

वृश्चिक : ससुराल पक्ष से कोई उपहार प्राप्त कर सकते हैं। आपकी अपने घर में सभी लोगों से अच्छी बनेगी। मित्र लोग आपके धनार्जन में सहयोग करेंगे। आपको बड़े भाई से कोई शुभ समाचार भी मिल  सकता है। जिनके  आप कर्ज़दार हैं वह आपको धन वापस करने के लिए बोल सकते हैं। किसी से आपको  क़र्ज़ नहीं लेना है यह ध्यान रखिये। क़र्ज़ लेकर आमतौर पर सभी  का नुक्सान ही होता है। आपको मित्रों के साथ समय बिताने को मिलेगा और धनलाभ भी होगा। व्यापारी वर्ग को ढ आने के अच्छे योग बने हुए हैं।

धनु : लग्नस्थ बुध मानसिकता  को अच्छा करता है बशर्ते किसी क्रूर गृह से युतन हो अन्यथा उसकी वृत्ति उसी क्रूर गृह जैसी हो जाती है। आपको भी हासपरिहास , घूमने फिरने आदि की बहुत इच्छा होगी और कामकाज में भी अच्छा  रहने वाला है। आपको किसी टीम का नेतृत्व करने दो दिया जा  सकता है। निजी जीवन बड़ा ही  आराम से कटेगा और वाद विवाद में भे पराजय शत्रुओं की होगी। आपकी काम की जगह पर आपका महत्त्व बढ़ेगा।

मकर : भागयेष का १२ वीन घर में जाना ठीक नहीं है हानि के योग बनते हैं।  आपको चाहिए की संभल कर अपनी योजनयें बनाये और उन पर सावधानीपूर्वक अमल करें। आपको चाहिए की अपनी कार्यक्षमता को बढाइये जिससे आपको समय पर काम समाप्त करने की सुविधा रहे नहीं तो आपके कार्यों में विलम्ब काफी निश्चित है।  संबंधों में अधिक ध्यान नहीं  देना है क्योंकि अभी उसका ठीक समय नहीं है। आपको निराशा ही हाथ लगेगी।
.
कुम्भ : प्रेम संबंधों के लिए बड़ा ही अच्छा समय है , आपको अनुमान आधारित धनोपार्जन के आयामों को भी आज़मा कर देखना चाहिए। लाभ होने के अच्छे योग बने हुए हैं किन्तु आपकी बुध की ही अंतर या प्रत्यंतर दशा चल रही होनी चाहिए।
संतान पक्ष से भी आपको लाभ मिलेगा। धर्म आदि के कार्यों में भी आपकी रूचि बनेगी। आपको कई तरह के लाभ मिल सकते हैं , जो भी आपकी इच्छा है और नहीं पूरी हो पा रही है तो  उसके लिए आपको अभी से प्रयास करना चाहिए क्योंकि समय उसके लिए अच्छा है।

मीन : व्यापारिक गतिविधियों में लगे हुए लोगों को अच्छा लाभ होगा। नौकरीपेशा लोगों को उतना लाभ नहीं होगा। स्वास्थ्य को लाकेर बिलकुल भी देरी मत कीजियेगा और जल्द से जल्द डॉक्टर से परामर्श लीजियेगा। अपनी सम्प्रेषण ,संवाद ,बातचीत पर नियंत्रण रखियेगा अन्यथा ऐसा न हो की कहीं आपके  मुह से कुछ अशोभनीय निकल जाय और आपको मानहानि उठानी पड़े। नौकरी पेशा लोगों को अधिक सावधानी रखनी चाहिए।