राजनाथ सिंह लखनऊ



राजनाथ सिंह जी ने लखनऊ से संसद की उम्मीदवारी का परचा भरा है , मैंने के पी क्रमांक २०८ का चयन करा है यह जानने के लिए की क्या वह जीत जायेंगे. आइये देखते हैं की क्या परिणाम सामने आता है:

जीत के लिए नियम : यदि छठे भाव का उपनक्षत्र स्वामी ६,१०,११ में से किसी का कार्येष गृह है तो व्यक्ति जीत सकता है अन्यथा यदि वह गृह ४,,१२ का कार्येष है तो वह हार जाता है. यदि वह दोनों प्रकार के भावों को सामान रूप से दर्शाता है तो महादशा अंतर और प्रत्यंतर स्वामी किन भाव के कार्येष हैं ये देखना चहिये
लग्न उपनक्षत्र  स्वामी बुध लग्न में है और यह गुरु के नक्षत्र में है जो पंचम भाव में है.
लाभेश का उपनक्षत्र स्वामी मंगल वक्री है और अष्टम में है. यह विपरीत फलदायी हो सकता है अर्थात अच्छा फल दे सकता है.
चंद्रमा इस समय चतुर्थ भाव में है और मंगल के नक्षत्र में है जो अष्टम में है.
निष्कर्ष : इनको विजय मिलनी कठिन होगी किन्तु मंगल की वक्रता और अष्टम भाव के कारण इनके पक्ष में अधिक मत आ सकते हैं. इनको अधिकाधिक म्हणत करनी होगी और विजय प्राप्त होगी.