वीरेंद्र खटीक का चुनावी भविष्य



वीरेंद्र खटीक टीकमगढ़ से भाजपा के प्रत्याशी हैं , आइये देखते हैं इनका क्या चुनाव परिणाम प्रश्न कुंडली द्वारा परिलक्षित होता है :-


जीत के लिए नियम : यदि छठे भाव का उपनक्षत्र स्वामी ६,१०,११ में से किसी का कार्येष गृह है तो व्यक्ति जीत सकता है अन्यथा यदि वह गृह ४,,१२ का कार्येष है तो वह हार जाता है. यदि वह दोनों प्रकार के भावों को सामान रूप से दर्शाता है तो महादशा अंतर . और प्रत्यंतर स्वामी किन भाव के कार्येष हैं ये देखना चहिये

छठे घर का उपनक्षत्र स्वामी चंद्रमा छठे  भाव में स्थित है. वह शनि के उपनक्षत्र में है जो लग्न  भाव में है.
दशम का उपनक्षत्र स्वामी शुक्र बुध  के उपनक्षत्र में है जो पंचम  भाव में है.
लाभस्थान का उपनक्षत्र स्वामी शनि शुक्र के उपनक्षत्र में है जो चतुर्थ  भाव में है.
इस समय चंद्रमा छठे भाव में है और शनि  के उपनक्षत्र में है जो लग्न  भाव में है. शनि वक्री है.
निष्कर्ष :आपकी जीत अत्यधिक कठिन है और जहाँ तक समभव है आप विजयी नहीं हो पायेंगे.