Wednesday, February 5, 2014

मंगल का तुला में गोचर

मंगल का तुला में गोचर
४ फरवरी को मंगल अपने ही जैसे क्रूर् ग्रहों शनि और रहू से युति करने वाला है.अभी तो मंगल कुछ दिन में वक्री हो जाएय्गा मगर जब वापस तुला में आएगा तब निश्चित ही विश्व का माहोल और ख़राब होगा. हम देखेंगे की वायु दुर्घटना बढ़ जायेंगी और रेल दुर्घटना भी बढेंगी.तीनों में रहू सबसे ख़राब गृह है और शनि रहू मंगल मिलकर बहुत उत्पात मचाएंगे. राहू के कारण मंगल प्रधान लोगों की पाशविकता बढ़ जायेगी और वे घिनोने कृत्य अंजाम देंगे. चोरी डकैती बलात्कार लूट की घटना बढ़ जायेंगी. आगजनी की घटनाएं और बढ़ जायेंगी. स्त्रीयों पर अत्याचार बढ़ेंगे और हम समाचार पत्रों में जघन्य हत्या और बलात्कार की खबरें अधिक देखेंगे. स्त्रीयां आत्महत्या भी करेंगी. कानून धर्म फिल्म जगत के लोगों के लिए अछ्हा समय नहीं रहेगा. जहरखुरानी की घटनाएं बढ़ जायेंगी. विभिन्न लग्न के जातकों पर इसका निम्न प्रभाव पढ़ सकता है:
1)      मेष :सप्तम में शनि रहू पहले से ही बैठे हैं और मंगल के आने से आपका पारिवारिक जीवन अस्तव्यस्त हो सकता है .आपको नेत्रों , पेट और गुप्तांगों में समस्या आ सकती है.आपको अपना आप नहीं खोना है अन्यथा आप बड़ी मुसीबत में पड़ सकते हैं.
2)      वृषभ : आपको कानूनी समस्या परेशान कर सकती है .शत्रु हावी होंगे .मान सम्मान को हानि पहुँच सकती है .आप खराब भोजन के कारण अस्पताल जा सकते हैं.धन हानि और मानसिक शांति की हानि होगी.
3)       मिथुन : आपकी संतान कष्ट में आ सकती है. उनको छोटी मोटी चोट लग सकती है या दुर्घटना हो सकती है .आपकी जांघें और गुप्तांगों में समस्या आ सकती है . इस समय किसी अनजान विपरीत लिंग के जातक के साथ नज़दीक होने से बचना चहिये.
4)      कर्क : आपको कई समस्याओं से जूझना पड़ेगा .इस लग्न की स्त्रीयों को अत्यधिक मानसिक तनाव का सामना करना पड़ेगा.आप में से अनेकों को अस्पताल के दर्शन करने पड़ सकते हैं.भाग्य साथ नहीं देगा.खर्चे बहुत होंगे और उन पर आप नियंत्रण नहीं कर पायेंगे.
5)      सिंह : आपको यह गोचर लाभ देगा. शत्रु पर विजय मिलेगी .किन्तु आपको अपने कार्य और व्यवहार को संयमित रखना होगा. आपके यहाँ चोरी हो सकती है और कीमती सामान जा सकता है. स्त्री द्वारा मानहानि हो सकती है.
6)      कन्या : परिवार में मतभेद रहेगा.मारपीट की नौबत भी आ सकती है.आपको कमजोरी महसूस होती रहेगी.शरीर में जल तत्व की कमी हो सकती है.पत्नी /पति के कारण अधिकतर समस्या आ सकती हैं.
7)      तुला :मेष और तुला दोनों ही लग्नों में रहू केतु १-७ अक्ष पर विराजमान हैं. अतः पारिवारिक समस्या आना निश्चित है .छोटी से बात भी आग में घी का काम कर सकती है. अगर आपको अभे तक अपने साथी से पीछा छुडाने का कोई कारण नहीं मिला है तो अब मिलने की पूरी संभावना है .
8)      वृश्चिक :जब तक मंगल तुला में रहेगा आपके लिए अच्छा फल देगा किन्तु मंगल थोड़े ही दिनों में वक्री होकर वापस कन्या में जाने वाला है. इस थोड़े समय में भी आपको अच्छा महसूस होगा , आपके मित्र परिचित साथ देंगे पर बाद में आपको नुक्सान ही होगा.अतः समझदारी इसमें ही रहेगी की थोड़े दिन की अच्छी घटनाओं से खुश न हो जाइएगा.
9)      धनु : आपको यह गोचर पूर्ण अच्छा रहेगा. छोटी मोटी बातों के अलावा कुछ ख़ास नहीं है. सभी नक्षत्र जिनमें मंगल का भ्रमण होगा वोह आपके लिए ठीक ही रहेंगे.
10)   मकर : आप नौकरी बदलना चाह रहे हैं, आपको मानहानि का सामना कर पड़ सकता है. शरीर के विभिन्न अंगों में असहजता बनी रहेगी. कमजोरी महसूस करेंगे .आप ख़राब भोजन का शिकार भी हो सकते हैं .किन्तु इन सबके बावजूद आपको धन की प्राप्ति बनी रहेगी.
11)   कुम्भ : आपको अपने ही कृत्यों के कारण मानहानि का सामना करना पड़ेगा. सावधान रहिये .क़र्ज़ बढ़ेंगे.बीमारियाँ आ सकती हैं .आप अनैतिक कृत्यों में लिप्त हो सकते हैं.आपकी नौकरी छूट सकती है .आपको गुप्त धन की प्राप्ति हो सकती है.

12)   मीन : निजी जीवन काफी प्रभावित होगा .परिवार में सामंजस्य नहीं रहेगा.आपको अदालत जाना पड़ सकता है .संतान से समस्या हो सकती है .पेट दर्द की शिकायत हो सकती है .हाजमा खराब हो सकता है.आपके वाहन में सुधार की आवश्यकता आ सकती है.रोज़मर्रा के जीवन में देरी और कठिनाई का सामना कर सकते हैं.