Wednesday, January 1, 2014

कर्क २०१४ राशिफल

कर्क २०१४ राशिफल
यह फलादेश लग्न आधारित है
इस जल तत्व भावनात्मक शुभ राशी का स्वामी चन्द्र है .इसमें गुरु शनि और बुध के पुनर्वसु पुष्य और अश्लेषा नक्षत्र आते हैं .कर्क के जातक समझौतावादी , भावुक और समझदार और स्वार्थी होते हैं .ये परिवार को साथ लेकर चलना पसंद करते हैं और इनमें अकेलेपन की बहुतायत पायी जाती है .ये अपनी भावनाओं के प्रस्फुटन के लिए दूसरों पर आश्रित रहते हैं इसलिए इन जातकों को अकेला नहीं छोड़ना चहिये . आत्मा हत्या की प्रवृत्ति भी इनमें पायी जाती है .
परिवार २०१४
यह वर्ष इस सन्दर्भ में दुखद ही रहने वाला है जून के महीने तक .आपके घर में अशांति आपकी समझ से परे हो जायेगी .पर जून के बाद सर्वजन सुखाय की स्थिति बन जाएगी और सभी मंगल कार्य भी होंगे .तब तक आपको संयम से काम लेना है और दूसरों पर अपनी अत्यधिक भावुकता का प्रकोप नहीं डालना है .
स्वास्थय २०१४
इस वर्ष आपको ह्रदय के रोग और समस्याएँ , फेफड़े और जिव्व्हा में दिक्कत आ सकती है .गुप्तांगो में भी समस्या आ सकती है .अतः कुछ भी समस्या होने पर समर्थ चिकित्सक से तुरंत सलाह लीजियेगा .स्वास्थय को नज़रंदाज़ मत कीजियेगा अन्यथा समस्या बढ़ सकती है .
प्रेम – रोमांस २०१४
जून के बाद ही आपकी प्रेम कहानी में सुधार होगा और तब तक आपको संयम बरतना है .कई जातको के सम्बन्ध जून के पहले ही समाप्त हो सकते हैं . विवाहित जोड़ों के जीवन में जून के बाद नयी ताजगी का संचार होगा .कई परिवारों में विवाह आदि मंगल कार्य होंगे .कई के सम्बन्ध स्थापित हो जायेंगे और अविवाहितों के जीवन में नयी उमंग प्रसारित होगी .
कर्मक्षेत्र २०१४
नौकरी और व्यवसाय दोनों में ही इस वर्ष शुभ समाचार प्राप्त होंगे. आप अपनी अपनी गतिविधियों में सफल और हर्षित रहेंगे तथा नाम भी प्राप्त करेंगे .आपको राज्य अथवा सरकार के लोगों से भी मदद मिलेगी .आपको सरकारी आवंटन का काम भी मिल सकता है .आप अपने से छोटे लोगों में प्रसिद्द होंगे और आपको उनसे सहायता भी मिलेगी .
आर्थिक स्थिति २०१४
इस वर्ष का पूवार्ध तो कुछ ख़ास नहीं है आपके लिए किन्तु उत्तरार्ध काफी अच्छा रहेगा .आपको शेयर , सट्टे आदि से भी कमाई होगी और जो आपका स्थायी कार्य है वह भी अच्छा चलेगा .इस वर्ष आप किसी के साथ साझेदारी न ही करें तो बेहतर रहेगा .
शिक्षा २०१४
यह वर्ष छात्रों के लिए कोई विशेष नहीं है . आपका ध्यान पढ़ाई में नहीं लगेगा और उसके लिए आपके घर का वातावरण जिम्मेदार होगा .दुसरे कामों में व्यस्तता भी एक कारण रहेगा .इस वर्ष आप दूसरों से पीछे ही रहेंगे और आपके अंक प्रतिशत भी कम रहेंगे .अतः सब काम छोड़कर पढाई में ही ध्यान लगाये रखिये तो अधिक अच्छा रहेगा .