Friday, December 13, 2013

YOGAS FOR BEING CURSED/EVIL SPIRIT IN HOROSCOPE

YOGAS FOR BEING CURSED/EVIL SPIRIT  IN HOROSCOPE….कुंडली मे प्रेत बाधा योग
1)यदि रहू ग्रस्त चन्द्रमा लग्न में हो और लग्न से पंचम में शनि तथा अष्टम में मंगल बैठे हों तो जातक पिशाच को इष्टदेव मानता है .
1) If moon is conjunct rahu in ascendant and saturn is in 5th and mars in 9th then native worships evil spirits/ghosts etc .
2)If mars is aspecting ascendant and 6th lord is in ascendant,7th or 10th then the native suffers due to black magic .
2)यदि लग्न पर मंगल की द्रष्टि हो और ६वे घर का स्वामी लग्न में हो ,सप्तम या दशम में हो तो जातक को प्रेत बाधा का सामना करना पड़ता है .
३)यदि लग्नेश ,मंगल के साथ लग्न अथवा और केंद्र में हो तथा ६ वे घर का स्वामी लग्न में हो तो जातक जादू टोना से पीधित होता है .
3)If LL ,MARS are in ascendant or in any angles and 6th lord is in in asc then native gets haunted..sufferes from black magic.
4)If jupiter is in asc . 4th or 10th and mandi is in any angles then native suffers from realisiation of a devtaa(god)
4)यदि ब्रहस्पति लग्न में हो चतुर्थ में हो या दशम में हो और किसी केंद्र में मंदी बैठा हो तो जातक किसी देबता के जाग्रत होने से पीधित होता है .
५)यदि शनि सप्तम में हो और कोई शुभ प्रद गृह चार राशी गत लग्न में बैठा हो तथा चन्द्रमा पाप ग्रस्त हो तो जातक भूत प्रेत पिशाच आदि के सक्षतार होने से पिधित होता है .
५)if saturn is in 7th and any benefic is in ascendant which is movable and moon is affliceted then the native sufferes from evil spirits .
6)if rahu and saturn are in ascendant then native suffers from black magic/ghosts/evil spirits.
6)यदि शनि और रहू लग्न में हो तो जातक को पिशाच बाधा होती है .
25 nov 1954...4:30..hyderabad ..though above parametres does not fit perfectly but this female had suffered from black magic etc .....

12-6-1974...00:06:00...hyderabad ..is having yoga no.2 in the chart and is going through same condition
29-aug-1974..raigarh..m.p….14:50 is another whom does not match with the above parametres completely but has gone through a lot of suffereings due to black magic
24 jan 1973..bhopal…20:35 is another going through the same …….