Friday, December 13, 2013

AMITABH BACHCHAN—A NEVER WILL BE PERSONALITY

AMITABH BACHCHAN—A NEVER WILL BE PERSONALITY
This name needs no reference or recognition.This name is an institute,univarsity in itself.He is the true SHAHESHAH of bollywood and there will be no one like him ,this can be assured.Pages and pages have been written about this great man so I will not be contributing anything new but let us see how numbers have played their roles in his life on the basis of chaldean numerology which cheiro practiced.
He was born on 11-10-1942 which totals to 19 and his date of birth totals to 2.19 again comes to 1 by adding 1 and 9.His year of birth totals to 16 which comes to 7.
So 1,2,7,16,19 should be doing something in his life and we will try to find out what they have done.
His name Amitabh Bachchan totals to 43 which gives 7 when added.His popular name is Amitabh which is 7 for some and some call him bachchan which gives us 25 which totals to 7.Now let us begin our journey :
His movie which made him ANGRY YOUNG MAN –ZANJEER CAME IN YEAR 1973 which totals to 2.The name Zanjeer totals to 26 which gives 8 when totalled.
Zanjeer was released on 11-5-1973 which totals to 27 which gives us 9 and the release date was 11 which gives us 2.
His first film performance was in bhuvan shome as voice narrator and then he acted in saat hindustani in 1969which totals to 25 which gives 7.
 Who can forget the great movie ANAND which totals to 16 which gives us 7 and it was released on 5-3-1971 gave him first award of filmfare best supporting actor.This date totals to 26 which gives us 8.
The all time great SHOLAY(Totals to 2) was released on 15-8-1975 which totals to 36 which gives us 9The other great was released on 24-1-1975.DEEWAR.THE name totals to 6 and the release date totals to 2 finally. Anand ,zanjeer,deewaar,sholay gave him a base which no one is able to shatter till date.These movies have now become referential movies and people compare todays films with them as far as Hindi Cinema is concerned.
The movie which made him a long term guest in hospital-COOLIE totals to 26 which gives us 8.The day on injury was 26th july 1982 which again gives us 35 which is 8 again.Coolie was released on 14th november 1983 which totals to 28 which is 1.
The television show “kaun banega crorepati” was launched in the year 2000 for the first time ,which is 2.The show is still a great crowd puller and it changed fortunes of Amitabh Bachchan.It is popularly known as KBC which gives us 7.
Among his most talked about films are MR.NATWARLAL(5),Silsila (6),SHAKTI(7),SHARAABI(7),KAALAPATTHAR(6),BAGHBAN(1),SHAHENSHAH(2),AGNEEPATH(1).
The fatal day which sent Amitabh Bachchan to hospital for long time totalled to 8.He might be not as fortunate on the next 8.All we can do is wish that our real shaehshah remains and live long forever.This article was to show how numbers come to us whether we chose them or not.He has so many films and awards and works to his name and they will be around the numbers we discussed in the beginning of this article.please do give us your feedback on the same. My personal favourites are Mr.natwarlal,shakti,sharaabi,sholay,namakhalaal,anand,kaala patthar.







अमिताभ बच्चन – महानायक जिसकी पुनरावृत्ति नहीं होगी
इस नाम को किसी पहचान की आवश्यकता नहीं है ,सालों से लोग इसके दीवाने थे और आज भी हैं .आगे भी कोई कमी होती नहीं दिखती है .इनके बारे अनगिनत शब्द लिखे जा चुके हैं और हज़ारों पुस्तकों में इनकी चर्चा है .मैं कुछ भी नया नहीं देने वाला न अब शायद कोई और दे पायेगा .
आइये देखते हैं की अंकों का इनके जीवन में क्या सम्बन्ध रहा है .महान अंकशास्त्री कीरो  द्वारा प्रयुक्त चाल्डियन पद्धति द्वारा अंकों का अमिताभ के जीवन में सरोकार हम देखने की कोशिश करेंगे .
इनका जन्म ११-१०-१९४२ को हुआ था जिसका जोड़ १९ होता है तथा इनके जन्मांक का जोड़ २ होता है .१ और ९ को जोड़ देने पर हमको १ प्राप्त होता है .इनके वर्षांक को जोड़ने पर हमें १६ मिलता है जिसे आगे जोड़ने पर ७ प्राप्त होता है .
अतः १,२,७,१६,१९ इन अंकों का इनके जीवन में क्या प्रभाव रहा यह देखते हैं :
इनका नाम अमिताभ बच्चन है जिसका जोड़ ४३ होता है जो हमें ७ देता है .
पहली फिल्म जिसमें इन्होने अपनी आवाज़ दी वह थी भुवन शोम तथा जिसमें अभिनय करा था वह थी –सात हिन्दुतानी .ये दोनों ही सन १९६९ में हुईं थी जिसका वर्षांक है ७ .
वह फिल्म जिसने अमिताभ को एंग्री यंग मैन की अमिट छवि प्रदान करी वह थी ज़ंजीर जो ११-५-१९७५  को प्रदर्शित हुई थी .ज़ंजीर का योग ८ है और इसके प्रदर्शित होने के दिन का योग ९ है .दिनांक ११ का योग २ है .
आनंद फिल्म को कोई भी दर्शक नहीं भूल सकता जिसमें इनको सर्वप्रथम श्रेष्ठ सह कलाकार का फिल्मफेर पुरस्कार मिला था .आनंद का योग १६ है जिसको जोड़ने पर ७ मिलता है .इस फिल्म के प्रदर्शित होने के दिन का योग ८ है .५-३-१९७१ .इस वर्षांक का योग भी ९ होता है .
दीवार वह फिल्म थी जिसके बोल आज भी लोगों के मुह पर हैं ,इसका प्रदर्शन
२४-१-१९७५ को हुआ था ,इसके नाम का योग ६ है ,प्रदर्शन के दिन का योग २ है और दिनांक का योग ६ है .
सदी की विश्व की महानतम फिल्मों  में गिनी जानेवाली शोले का प्रदर्शन १५-८-१९७५ को हुआ था जिसका योग ९ है .शोले का योग २ है .दिनांक १५ का योग ६ है .
फिर वह मनहूस दिन आया जिसने अमिताभ को लम्बे समय के लिए अस्पताल का मेहमान बना दिया और देश भर में भगवान् के बाद लोग अमिताभ के लिए दुआ करने लगे .वह फिल्म थी कुली .दुर्घटना का दिन था २६ -७- १९८२ जिसका योग ३५ है जो हमें और जोड़ने पर ८ देता है .कुली के योग भी ८ है और दिनांक २६ का योग भी ८ है .इस फिल्म का प्रदर्शन १४-११-१९८३ को हुआ जिसका योग २८ है जो की और जोड़ने पर १ होता है .
सन २००० जिसका योग २ है ,इस साल अमिताभ ने पहली बार कौन बनेगा करोड़पति का पहला भाग होस्ट करा .इस कार्यक्रम से न सिर्फ अमिताभ का भाग्य बदल गया बल्कि इस धारावाहिक को उसका सदा चिरायु होस्ट भी मिला .इसको आमतौर पर के बी सी कहा जाता है जिसका नामंक ७ है .
अमिताभ बच्चन की कुछ बहु चर्चित फिल्में और उनके नामंक इस प्रकार हैं
१)मिस्टर नटवरलाल -५ (२)सिलसिला -६ (३)शक्ति -७ (४)शराबी -७ (५)काला पत्थर -६ (६)बागबान -१ (७) शहेंशाह -२ (८)अग्निपथ -१ 
स्पष्ट रूप से १,२,७,१६ १९ का प्रभाव उनके जीवन पर देखा जा सकता है . साथ ही यह भी स्पष्ट है की अंक हमारे पीछे लगे ही रहते हैं भले ही हम उनको मानें या न मानें .जिस दिन उनको घातक चोट लगी वह दिन पूर्ण रूप से ८ था .एक बार तो अमिताभ बच्चन को जीवन दान मिल गया मगर यदि दोबारा इसी प्रकार का ८ का योग उनके जीवन में किसी प्रकार से बना तो क्या होगा ये नहीं कहा जा सकता .हम तो उनके लिए सदा येही कामना करते रहेंगे की वे चिरायु हों और हमारे मनों पर हमेशा राज करते रहें .